Manav


Formerly quarterly in periodicity, its new series is biannual, published in January and June every year. For a large number of Hindi readers, it happens to be the earliest journal (started in 1973) of its kind being published regularly. Manav publishes original papers, shorter notes, book reviews, review articles and professional news related to anthropology & archaeology, sociology and other allied disciplines. Is also carries a regular column of matter particularly useful in graduate & post graduate students of social sciences.
Visit Website: www.efcsindia.org

Editor Dr. Vinod Chandra (Lucknow)
Associate Editor Dr. Rahul Patel ( Allahabad)
Assistant Editor Dr. Jyoti Sadana (Kota, Rajsthan)
Dr. Neetu Agrawal (Lucknow)
Managing Editor Prof. Sukant K. Chaudhury (Lucknow)
  

Annual Subscription


Institution/Library Rs.600/-
Individual Rs.400/-
Student Rs.300/-
Individual(3 years) Rs.1000/-
Student(3 years) Rs.700/-
Back issues At current price
  
वर्ष: 38 नं. 1 - 2 2020

विषय सूची

मुसहर अनुसूचित जाति का सामाजिक समावेशन व परिवर्तन
(बिहार के रोहतास जिले के विशेष सन्दर्भ में)
जोखन शर्मा एवं
जयंत कुमार नायक
जनजातियों में गर्भ निरोधक विधियों का प्रचलनः एक समाजशास्त्रीय अध्ययन
मध्यभारतीय कोइतूरों की जात मिलौनी प्रथा: एक नारियल सदृश संकल्पना
प्रमोद कुमार गुप्ता,
माधुरी खांडेलकर,
सर्वेन्द्र यादव एवं जय कुमार रामटेके
गुजरात की सीद्दी जनजाति के लोक नृत्य, संगीत एवं वाद्ययंत्र का नृजातीय अध्ययन
ब्रिक्स प्रासंगिकता: राजनीतिक आर्थिक विकास व सामाजिक सहयोग का एक दशक
आरसी प्रसाद झा
अनिल कुमार
कोल जनजाति में जन्मसंस्कार: बघेलखण्ड के विशेष संदर्भ में ओम प्रकाश एवं
अनुराग चौरसिया
कोविड-19 और मानव जीवन में सकरात्मक बदलाव
कोरोना महामारी के दौरान भारतीय संस्कृति के सकारात्मक पक्षों की उपादेयता
अमरेश कुमार त्रिपाठी
अंकुर यादव एवं
गणेश शंकर श्रीवास्तव
मास मीडिया एवं स्वच्छता: स्वच्छ भारत मिशन के सन्दर्भ में स्वास्थ्य के सामजिक-सांस्कृतिक कारक:
एक मानवशास्त्रीय विवेचना एसिड अटैक पीड़ित महिलाओं की सामाजिक-मानसिक स्थिति
(नारीवादी मानवशास्त्र के विशेष संदर्भ में)
कृति मिश्रा
निशीथ राय
अवन्तिका शुक्ला एवं
वीरेन्द्र प्रताप यादव
जयप्रकाश नारायण और कार्ल मार्क्स के विचारो में साम्यता भारत में सामाजिक नियंत्रण एवं पुलिस
प्रशासन भारत विभाजन के समय हिन्दू-मुस्लिम संबंध धर्म कीर्ति के दर्शन में बाह्यार्थ की संकल्पना
किसान समस्या और हिंदी उपन्यास उत्तर प्रदेश में बहुजन वैचारिकी की कवायद और संभावनाएं
भारतीय गणतन्त्र और वास्तविक समानता का सवाल
ध्रुव कुमार त्रिपाठी
संजय तिवारी
रविकान्त
श्रुति शर्मा
रूपेश कुमार
देवी प्रसाद एवं
सर्वेन्द्र यादवशरद जायसवाल एवं
गुंजन सिंह
धीरेंद्र नाथ मजूमदार: भारत में मानवविज्ञान का ध्रुव तारा वीरेन्द्र प्रताप यादव